Friday, May 31, 2019

अजय को मारने वाली थी 1000 लोगों की भीड़, पिता वीरू देवगन ने आकर बचाई थी बेटे की जान


Get Daily Updates In Email



अजय को मारने वाली थी 1000 लोगों की भीड़, पिता वीरू देवगन ने आकर बचाई थी बेटे की जान

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है. जिसमें अजय देवगन और साजिद खान एक घटना के बारे में बात करते नजर आ रहे हैं. वीडियो में अजय अपने पिता से जुड़ा किस्सा बता रहे हैं. जब लगभग 1000 लोगों की भीड़ अजय को पीटने वाली थी और कैसे उनके पिता वीरू देवगन ने मामले को वहीं खत्म कर बेटे को बचाया था.



दरअसल काफी वक्त पहले एक टीवी शो में अजय देवगन ने इस किस्से को सुनाया था. अजय ने कहा था, ‘बहुत लोगों को मारा है और बहुत लोगों से मार भी खाई है.’ फिर साजिद ने पूरी घटना को विस्तार से बताया और कहा, ‘अजय के पास एक सफेद जीप थी जिसमें हम घूमते थे. एक दिन जब अजय और मैं हॉलिडे होटल के पास एक संकीर्ण रास्ते से गुजर रहे थे. तब एक बच्चा पतंग के पीछे भागते भागते गाड़ी के सामने आ गया था. अजय ने तुरंत ब्रेक लगाया. जीप ने बच्चे को हिट नहीं किया था लेकिन डर की वजह से बच्चा रोने लगा था.’



उन्होंने बताया कि, ‘इसके बाद लगभग 1000 लोगों ने उनकी जीप को घेर लिया. हम समझाने की कोशिश कर रहे थे कि बच्चा अचानक सामने आया और उसे लगी भी नहीं है. लेकिन वह लोग चिल्लाने लगे कि उतरो-उतरो तुम अमीर लोग गाड़ी तेज चलाते हो. हमें पता नहीं चला और हमारे सिर पर मारना शुरू कर दिया गया. दस मिनट में बात अजय के पिता तक पहुंच गई और वीरू जी वहां पर 150-200 फाइटर्स लेकर आ गए.’ जिसके बाद उन्होंने अजय की जान बचाई.’



बता दें कि वीरू देवगन इंडस्ट्री में हीरो बनने आए थे लेकिन एक्शन डायरेक्टर बन गए. अजय के पिता ने फिल्म ‘अनीता’ से बॉलीवुड में बतौर स्टंटमैन डेब्यू किया था. वीरू देवगन के दो बेटे अजय देवगन और अनिल देवगन हैं. वीरु देवगन को एक्शन फिल्मों के लिए पूरा बॉलीवुड जानता है. उनकी फेमस फिल्मों में 1994 में ‘दिलवाले’, ‘हिम्मतवाला’ और 1988 में ‘शहंशाह’ शामिल है.


Published by Yash Sharma on 31 May 2019

No comments:

Post a Comment